जमय प्रदर्शन

जागरण संवाददाता, बठिडा : ठेका मुलाजिम संघर्ष मोर्चा की जोन स्तरीय बैठक रविवार को टीचर होम में आयोजित की गई। इस दौरान मोर्चा के प्रांतीय नेताओं जगरूप सिंह, गुरविदर सिंह पन्नू, वरिदर सिंह बीबीवाला, जगसीर सिंह भंगू, खुशदीप सिंह, राजेश कुमार, सेवक सिंह, संदीप खान, कमल कुमार आदि ने कहा कि कैप्टन सरकार समूह विभागों के ठेका मुलाजिमों को रेगुलर करने का वादा करके सत्ता में आई थी, लेकिन रेगुलर नहीं किया। सरकार खजाना खाली होने तथा कानूनी अड़चनों का बहाना बनाकर ठेका मुलाजिमों को पक्का करने के वादे से लगातार भाग रही है। सरकार ने कारपोरेट पक्षीय नीतियों को लागू करते हुए समूह सरकारी विभागों का निजीकरण करने का रास्ता अख्तियार किया हुआ है। 1 लाख सरकारी नौकरियां देने की बात करने वाले कैप्टन सरकार ने समूह विभागों से पुनर्गठन के नाम पर एक लाख के करीब पदों को खत्म कर कर दिया है। मोर्चे की ओर से लगातार किए जा रहे संघर्ष के दबाव की बदौलत पूर्व अकाली भाजपा सरकार की ओर से बनवाए गए वेलफेयर एक्ट 2016 को तोड़कर नया वेलफेयर एक्टर लाकर ठेका प्रणाली, आउटसोर्सिंग तथा इनलिस्टमेंट आदि के जरिए काम करते ठेका मुलाजिमों को रेगुलर करने का रास्ता बंद कर रही है। नेताओं ने कहा कि ठेका मुलाजिमों को स्थायी करने की मांग को लेकर 10 जुलाई को प्रदेश भर तीन जगह पर नेशनल हाईवे जाम किए जाएंगे।