www dabur com recruitment

जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने साबरमती आश्रम को सजाने-संवारने की योजना को लेकर केंद्र और गुजरात सरकार पर निशाना साधा है। गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि आश्रम के मूल स्वरूप को खत्म करना गलत है। उन्होंने लिखा कि केंद्र और गुजरात सरकार द्वारा अहमदाबाद के साबरमती आश्रम के मूल स्वरूप को खत्म कर इसे आधुनिक बनाने का फैसला पूरी तरह गलत है। भारत ही नहीं दुनियाभर में इस फैसले की आलोचना हो रही है। इस फैसले से साबरमती आश्रम की सादगी व शुचिता खत्म हो जाएगी। उन्होंने लिखा कि महात्मा गांधी ने अपना पूरा जीवन सादगी के साथ आजादी की लड़ाई व मानवता की सेवा में लगा दिया। सादगी से जीवन जीने वाले महात्मा गांधी के आश्रम के अत्याधुनिक व लग्जरी इंफ्रास्ट्रक्चर बनाना उनके जीवन की मौलिकता के विपरीत है। साबरमती आश्रम बापू के विचारों और सिद्धांतों की परछाई है। उन्होंने अपील की है कि आश्रम के मूल स्वरूप से कोई छेड़छाड़ नहीं की जाए। इससे धनार्जन के प्रयास करने के बजाय इसे चिंतन-मनन का केंद्र ही रहने दें। उल्लेखनीय है कि इस मुद्दे को लेकर गहलोत पहले भी केंद्र और गुजरात सरकार पर निशाना साध चुके हैं।