unicef recruitment portal 2020

जिले को 7158 प्रधानमंत्री आवास निर्माण का लक्ष्य दिया गया था। तीन किस्तों में पात्रों को धनराशि दी जानी थी। इसके बाद शौचालय व बिजली के कनेक्शन के लिए अन्य योजना से धनराशि देनी थी। पात्रों के चयन में ही काफी समय बीत गया। योजना में 7043 लोगों का चयन कर प्रथम किस्त जारी की गई। नींव भरने के बाद 6427 लोगों को दूसरी किस्त खाते में भेज दी गई। दीवार खड़ी होने के बाद 696 लोगों को तीसरी किस्त दी गई। आलम यह है कि अब तक 65 आवासों का निर्माण हो सका है। सवाल यह उठता है कि तीनों किस्तें मिलने के बाद 631 लाभार्थियों के आवास पूर्ण क्यों नहीं हुए। परियोजना निदेशक जनार्दन ¨सह ने बताया कि जीओ टैग अपलोड न होने के कारण आवासों के निर्माण की प्रगति धीमी है।