रम जन्म भूम फल्म

दिव्यांगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार तमाम योजनाएं भी चला रही है। यहीं नहीं समाज में समान रूप से सम्मान देने के लिए उनको शिक्षा सहित नौकरियों में छूट भी दी जा रही है। ताकि समाज के साथ कदम से कदम मिलाकर वह चल सके। पिछले वित्तीय वर्ष में मात्र दो दिव्यांग दंपती ने शादी के लिए आवेदन किया था लेकिन इस साल यह संख्या बढ़कर आठ हो गई है। इसमें से छह लोगों को योजना का लाभ प्रदान किया जा चुका है। दो लोगों को योजना का लाभ देने की तैयारी की जा रही है। इसमें शहर के हकीकतपुर निवासी अनिल पत्नी अनीता व निजामुद्दीनपुरा निवासी अमित कुमार भारती पत्नी पूनम शामिल हैं।