recruitment of government job 2019

अटसू कस्बे में एक परिवार कल्याण स्वास्थ्य उपकेंद्र है। राज्य सेक्टर योजना अन्तर्गत बने इस उपकेंद्र का लोकार्पण 14 दिसंबर 2006 को तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम ¨सह ने अटसू में नगर पंचायत स्तर को देखते हुए किया था। केंद्र पर सप्ताह दो दिन एएनएम नीतू ¨सह मौजूद रहकर गर्भवती व नवजातों के टीकाकरण का कार्य करती हैं। केंद्र के निर्माण के समय आने-जाने के लिए मुख्य मार्ग पर पड़ी जगह से होकर प्रसूताओं व टीकाकरण कराने वाली महिलाओं को आना पड़ता था, लेकिन इस जगह पर कस्बे के लोगों ने अपनी-अपनी जगह बताते हुए घूरा व जानवर आदि बांध कर कब्जा कर रखा है। इससे इस उपकेंद्र पर आने वाले लोगों के लिए रास्ता पूरी तरह बंद हो चुका है। हालत यह है कि गर्भवती व टीकाकरण के लिए केंद्र पर आने वालों को घूरे व गंदगी के ढेर से होकर गुजरना पड़ता है। इससे गर्भवती व नवजात शिशुओं में संक्रामक रोग फैलने का खतरा है। कस्बे के लोगों ने बताया कि इस उपकेंद्र पर जाने से तो अच्छा है कि अजीतमल सीएचसी जाए कम से कम गंदगी व संक्रामक बीमारियों से बचे रहेंगे। ज्ञात हो कि बल्लापुर में स्थित उप स्वास्थ्य केंद्र की हालत भी खस्ताहाल हो चुकी है। वहां के दरवाजे व खिड़कियां तक गायब हैं। विभाग जर्जर हालत की पांच साल से जांच कर रहा है। लेकिन न तो अभी तक जांच पूरी हो सकी है और न ही जर्जर उप स्वास्थ्य केंद्र को दूसरी जगह संचालित करने के लिए स्वास्थ्य विभाग अभी तक जगह भी तलाश नहीं कर पाया है। इससे गर्भवती महिलाओं को अजीतमल तक जाना पड़ता है।