private bank recruitment in karnal contact number

= हॉस्पिटलों में इंजेक्शन की कमी का कारण खुद सरकार थी क्योंकि सरकार ने इन इंजेक्शनों के लिए केंद्र को आवेदन भेजा ही नही था। पहले सरकार को 74 हजार इंजेक्शन की मंजूरी दी गयी थी जिसे अब केंद्र ने बढ़ाकर 1.24 लाख कर दिया है। सरकार की तरफ  से कोर्ट को बताया गया कि अभी 310 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उपलब्ध है।