पंजब whatsapp status video download

दोनों मामले मानव संपदा पोर्टल पर दर्ज नाम, पिता का नाम, जन्मतिथि समान होने पर पकड़े गए। एसटीएएफ मुख्यालय लखनऊ के एसएसपी ने कार्रवाई के लिए जांच रिपोर्ट बीएसए को भेजा। बीएसए ने दोनों को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा लेकिन सही जवाब नहीं मिला। शहर के रामनाथ देवरिया का रहने वाला रामानुज मिश्र पुत्र बाबूनंदन सदर ब्लाक के कंपोजिट विद्यालय नगउर में सहायक अध्यापक पद पर तैनात था। वह संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय वाराणसी की शिक्षा शास्त्री की फर्जी अंक व प्रमाण पत्र के आधार पर नौकरी कर रहा था। एसटीएफ की जांच में यह भी पकड़ा गया।