kuk recruitment 2019 clerk

खाचरियावास ने कहा कि केंद्र सरकार को पूंजीपतियों को चिंता छोड़कर आम नागरिकों की चिंता करनी चाहिए। वहीं, भाजपा विधायक रामलाल शर्मा ने आरोप लगाया कि जीएसटी काउंसिल की बैठक में कांग्रेस के ही केंद्रीय नेता नहीं चाहते हैं कि पेट्रोलियम पदार्थ जीएसटी के दायरे में आए। इस मामले में कांग्रेस पहले अपना स्टैंड तय करे, उसके बाद केंद्र सरकार के बारे में बात करे। उन्होंने कहा कि खाचरियावास राजस्थान में मंत्री हैं। उन्हें बड़बोले बयानों के लिए प्रसिद्ध माना जाता है। दूसरों पर अंगुली उठाने से पहले कांग्रेस सरकार को देखना चाहिए कि उन्होंने खुद साल, 2018 से अब तक चार बार टैक्स के तौर पर पेट्रोलियम पदार्थाें के दाम बढ़ाए गए हैं।