karnataka assistant professor recruitment 2018

शासन के निर्देश पर 28 मार्च से ही विभिन्न स्थानों पर फंसे लोगों को लाने का सिलसिला शुरू हुआ था। इस दिन जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में फंसे करीब 624 लोगों को रोडवेज बसों से छोड़ा गया। इसके अलावा 29 मार्च को 2246 लोगों को विभिन्न स्थानों से रोडवेज बसें लेकर आई हैं। इस दिन कुछ लोगों को छोड़ा भी गया है। 30 मार्च को भी करीब 1000 लोगों को लेकर बसें रोडवेज पर पहुंची। इनकी स्क्रीनिग की गई। इसके बाद प्रशासन की तरफ से बनाए गए आइसोलेशन सेंटर भेजा गया है। एआरएम वीएन त्रिपाठी ने कहा कि रोडवेज बसों से अभी भी बाहर के लोगों को आने का सिलसिला जारी है। अभी डिपो की कई बसें लखनऊ की तरफ गई हैं। आने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है। जिलाधिकारी ज्ञानप्रकाश त्रिपाठी व पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य भी आने वाले लोगों को सुरक्षित रखने का इंतजाम कर रहे हैं। इनको आइसोलेशन में रखा जा रहा है। हर तरह की हिदायत बरती जा रही है।