इंडय में सबसे बड़ पैसे वल कन है

संवाद सहयोगी जारीबाग : मेडिकल कॉलेज अस्पताल के नए बिल्डिग में लगाए गए लिफ्ट का जीर्णोद्धार कार्य पूरा कर लिया गया है। अब इसका उपयोग अस्पताल आनेवाले लोग कर सकते हैं। इससे मरीजों को सीढ़ी चढ़कर उपर जाने की परेशानी से निजात मिलेगी। साथ ही मरीजों के परिजनों व अस्पताल के पारामेडिकल कर्मियों के लिए भी किसी मरीज को उपरी तल्ले पर ले जाने और लाने में सहुलियत होगी। संवेदक के द्वारा सूचना देने पर सिविल सर्जन सह मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डा. कृष्ण कुमार ने जाकर लिफ्ट की जांच की। एक बार जा सकेंगे 15 लोग मेडिकल कॉलेज अस्पताल में जीर्णोद्धार कार्य के क्रम में नए बिल्डिग के लिफ्ट का कार्य संवेदक के द्वारा पूर्ण कर लिया गया है। यह जानकारी अधीक्षक डा. के. लाल ने दी। उन्होंने बताया कि प्रख्यात ओआइटीएस कंपनी का लिफ्ट अस्पताल के नए बिल्डिग में लगाया गया है। इससे एक बार में लगभग 15 लोग उपरी तल्ले पर जा सकेंगे। लिफ्ट एक बार में अधिकतम 1020 किलोग्राम का वजन लेकर उपर-नीचे आ जा सकता है। इसके पूर्व अधीक्षक डॉ. केके लाल व अस्पताल प्रबंधक मो. शहनवाज ने लिफ्ट को चलाकर उसकी जांच की। ज्ञातव्य है कि काफी दिनों से अस्पताल में लिफ्ट मरम्मत कराने की मांग की जा रही थी। अब लिफ्ट तैयार हो जाने के बाद इससे ट्रामा सेंटर या अन्य किसी जगह से मरीजों को स्ट्रेचर सहित आसानी से उपरी तल्लों पर ले जाया जा सकेगा। लिफ्ट के बन जाने से मरीजों व उनके परिजनों ने भी राहत की सांस ली। इससे पूर्व महिला मरीजों खासकर गर्भवती महिलाओं को सीढि़यों के सहारे प्रसव कक्ष या वार्ड तक पहुंचना पड़ता था। वहीं मरीजों की परेशानियों को देखते हुए निर्माणाधीन वार्ड में रैंप का निर्माण कराया जा रहा है।