ibps bank recruitment 2019 syllabus

नई दिल्ली, जेएनएन। 1984 anti Sikh riots :  दिल्ली के त्रिलोकपुरी में 1984 में हुई सिख विरोधी हिंसा में सुप्रीम कोर्ट ने दोषी ठहराए गए 15 लोगों को बरी कर दिया है, इन सभी को सबूतों के अभाव में बरी किया गया। इससे पहले दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) ने नवंबर, 2018 में इन लोगों के दोषी होने और निचली अदालत से मिली सज़ा को सही ठहराया था और पांच साल की सजा बरकरार रखी थी। सजा पाने वाले लोगों ने सुप्रीम कोर्ट में सजा के खिलाफ चुनौती दी थी। अब सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट और निचली अदालत के फैसले को पलट दिया है।  सुप्रीम कोर्ट ने फैसले में कहा कि इनके खिलाफ दंगों में शामिल रहने के न तो सीधे सबूत मिले और ना ही गवाहों ने उनकी पहचान की, ऐसे में इन्हें बरी किया जाए।