गत वडय सेक्स

संवाद सहयोगी, उकलाना : अखिल भारतीय किसान सभा की किसानों की समस्याओं को लेकर शनिवार को तहसील प्रधान भूप सिंह नया गांव की अध्यक्षता में बैठक हुई। सचिव दयानंद ढुकिया ने संचालन किया। इस समय किसानों को यूरिया के लिए धक्के खाने पड़ रहे हैं। इसके बावजूद खाली हाथ घर लौटना पड़ता है। सरकार झूठे दावे कर किसानों के साथ धोखा कर रही है। कपास की बोली में मन चाहे तरीके से बोली करवा कर किसानों को लूटा जा रहा है। मार्केट कमेटी अधिकारी बोली करवा कर किसानों का शोषण करवा रहे हैं। किसान सभा सहन नहीं करेगी। कपास में गुलाबी सुंडी से भारी नुकसान व जल भराव से खराब धान व अन्य फसलों की कोई गिरदावरी रिपोर्ट नहीं हुई। वर्ष 2020 की नरमा कपास के खराबे का करोड़ों रुपये का मुआवजा सरकार नहीं दे रही। वर्तमान में मजदूर के लिए खेत में कोई काम नहीं है। इसके लिए मनरेगा के तहत मजदूरों को 100 दिन का काम दिया जाएगा। अगर 10 जनवरी तक इन मांगों का कोई समाधान नहीं हुआ तो 11 जनवरी को तहसील कार्यालय पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। बैठक में सतबीर बलोदा, सतबीर दरवेश, बलिदर फरीदपुर, बलबीर नंबरदार, पाबड़ा, जुगती राम, ईश्वर, बिठमडा, मूर्ति देवी, कमला, सुनीता खेरी, रोशनी, कृष्णा, दर्शना, बृजलाल, महेंद्र सिंह, स्वराज, कुलदीप, रामस्वरूप, घासी राम भेरिया, तारा चंद, प्रेम सोनी, सुभाष कुंदन पूरा आदि मौजूद रहे।