गजर क हलव बनकर दखओ

चौकी प्रभारी के खिलाफ दलित उत्पीडऩ सहित अन्य संगीन मामले दर्ज हैं। मामले में दागदार वर्दी को बचाने के लिए मामला निपटाने के लिए पुलिस ने पीडि़ता से शपथपत्र भी ले लिया था। कलम बंद बयान भी दर्ज कराया जा चुका है। बयान में पुुलिस ने क्या गुल खिलाया अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है लेकिन दारोगा को बचाने को लेकर सवाल उठ रहे हैं। विवेचना कर रहे सीओ भदोही प्रयांक जैन का कहना है कि आडियो का सीडीआर निकाला जा रहा है। साक्ष्य एकत्र कर गिरफ्तारी की जाएगी। यही नहीं औराई के बभनौटी गांव में नाबालिग द्वारा पिस्टल से फायरिंग करने का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ था।