एक्सस बैंक क बैलेंस चेक करने क नंबर

गिरफ्तार प्रेमी अखलासपुर गांव निवासी हीरा कुशवाहा का पुत्र रक्षा कुमार व कुंदन जायसवाल के पुत्र ऋषि कुमार को थाना में देखते ही पीड़िता उन्हें पहचान गई। उसने बताया कि रक्षा कुमार के ही फोन करने पर वह घर से आई थी। पूर्व में रक्षा कुमार पीड़िता के मांग में जबरदस्ती सिदूर भी डाल दिया था। इस मामले के अनुसंधान में पुलिस ने पीड़िता के मोबाइल कॉल डिटेल के आधार पर तीन युवकों को हिरासत में लिया था। लेकिन ठोस साक्ष्य के अभाव में उन्हें छोड़ने के बाद पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए डीआइयू व पुलिस टीम का गठन कर वैज्ञानिक अनुसंधान शुरू कराया गया। इसके चलते मामले का खुलासा हुआ और घटना के वास्तविक आरोपित गिरफ्तार कर लिए गए। गिरफ्तारी को ध्यान में रखकर पुलिस ने तीसरे आरोपित का नाम बताने से परहेज करते हुए कहा कि उसे शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जाएगा। घटना के बाद भयभीत पीड़िता के बार-बार बयान बदलने से मामले का खुलासा करने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। एसपी ने कहा कि मामले का पर्दाफाश करने वाली टीम में शामिल पदाधिकारियों को पुरस्कृत किया जाएगा। इस अवसर पर भभुआ थानाध्यक्ष रामानंद मंडल, महिला थाना के थानाध्यक्ष संजय पासी, एसआइ सीता कुमारी, डीआइयू टीम के संतोष कुमार व एएसआइ सुनील पासवान आदि उपस्थित थे।