धरन प्रदर्शन के नयम

वर्ष 2008 में मसूदपुर में क्षेत्रीय जनता स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए एक उप स्वास्थ्य केंद्र का लाखों रुपये खर्च कर निर्माण किया जाएगा। जिससे क्षेत्रीय जनता में इलाज को लेकर एक आस जगी थी। लेकिन जैसे-जैसे दिन गुजरे, उनकी आस आक्रोश में बदल रही है। हैरानी की बात यह है कि उक्त उप स्वास्थ्य केंद्र की शुरुआत तक नहीं हुई। लेकिन हर वर्ष रंग रोगन के नाम पर नोटा बजट भेजा जाता है। आरोप है कि महज औपचारिकता निभाकर उस बजट का बंदरबांट कर लिया जाता है। इसके अलावा उक्त केंद्र की दो बार उद्घाटन की तारीख भी घोषित हो चुकी है। लेकिन किसी कारणवश कार्यक्रम को निरस्त कर दिया गया। जबकि ग्रामीणों को इलाज संबंधी समस्या को लेकर दूर-दूर तक जाना पड़ता है। वहीं उक्त केंद्र के परिसर में खाली पड़ी जमीन पर लोगों द्वारा अवैध कब्जा किया जा चुका है। क्षेत्रीय लोगों ने स्वास्थ्य केंद्र चालू कराए जाने की मांग की है। जिससे लोगों को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कत होने पर ज्यादा दूर भटकना न पड़े।