बंक जल में कतने प्रखंड है

हालांकि, पूरे मामले में अब राजनीति भी शुरू हो गई है. सीएम केजरीवाल के पहुंचने से पहले ही मुखर्जी नगर में जिस ग्रामीण सेवा चालक की पिटाई हुई थी. उसके घर के बाहर आम आदमी पार्टी और गुरुद्वारा सिख कमिटी के सदस्यों के बीच जमकर बहसबाजी और पीड़ित के साथ खींचतान हुई.