बंजर मसम

उन्होंने कहा कि यह टोल जो बछुआं में लगाया गया है और पहले भी यहां पर लगा था। अब बड़ा आकार कर दिया है। साथ ही गांव के लोगों, पंचायत द्वारा नरेगा के तहत तालाब बनाया गया था। उसको खत्म करके उस पर निर्माण कर दिया है। अब बरसात आने पर बछुआं के हर घर में पानी-पानी हो गया। आम टोल पर एक पर्ची 24 घंटे चलती है, इन पर ऐसा नहीं है। जब आओ पर्ची लगेगी। गांव के लोगों के खेत नहर पार हैं, वह जब भी जाएं, उनको टोल नहीं लगना चाहिए। अब यह दोनों टोल अचानक चालू कर दिए, सड़क का काम अभी चल रहा है, टोल के रास्ते अभी ठीक नहीं, मोटरसाइकिल आदि को कच्चे रास्ते की और इशारा कर रहे हैं। यह सब समस्याएं सरकार हल करवाए। अगर हल न हुआ तो बसपा पूरा संघर्ष लेकर उतरेगी। इस अवसर पर नायब तहसीलदार बलाचौर, एसएचओ सदर बलाचौर आदि ने मसले हल करवाने का आश्वासन दिया।