भरत क आत्म कह नवस करत है

संवाद सहयोगी, बलाचौर : अगर कैप्टन सरकार चाहे तो केंद्र सरकार की मुलाजिम, मजदूर और किसान विरोधी नीतियों को मानने से इंकार कर सकती है। उक्त विचार कामरेड परमिदर मेनका तहसील सचिव सीपीआइ बलाचौर ने व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण लोगों की आर्थिक हालत पतली हो गई है। काम नहीं मिल रहा और सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता जरूरतमंदों को नहीं मिल रही। उल्टा सरकार जगह-जगह टोल प्लाजा चालू करके लोगों को लूटने में लगी हुई है। काफी समय से बंद पड़े, बछुआं और बहराम टोल प्लाजा को दोबारा चालू करके सरकार ने बहुत गलत किया है। उनकी पार्टी इन्हें हटाने की मांग करती है और इनका पूरा विरोध करती है। एक और सरकार लॉकडाउन और क‌र्फ्यू लगाकर लोगों को घरों में बंद कर रही है, दूसरी और रातों-रात टोल प्लाजा चालू कर रही है। उन्होंने क्षेत्र के लोगों से अपील की कि कोई भी टोल न दे और अगर लोगों से धक्के से पैसे लिए तो आने वाले दिनों में पार्टी कोई बड़ा संघर्ष करने के लिए मजबूर होगी।