बद्रनथ धम के मुख्य पुजर

सेक्टर-50 निवासी रमिता तनेजा बताती हैं कि कोरोना काल के शुरुआती दौर में उन्होंने जिम्स व अन्य अस्पताल में भर्ती मरीजों की फोन पर काउंसलिंग कर अवसाद से बचाया, क्योंकि कोरोना से जंग में सबसे बड़ी लगाई मानसिक रूस से थी और ज्यादातर लोग डर के कारण ठीक नहीं हो पा रहे थे, ऐसे में उन्होंने अस्पताल में कार्यरत डॉक्टर से सीधे संपर्क कर ऐसे मरीजों की मदद की जोकि घर से दूर नोएडा में कार्य के सिलसिले में रह रहे हैं और कोई देखभाल के लिए भी नहीं है, ऐसे में लोग अकेलेपन और डर के कारण सबसे ज्यादा परेशान हो रहे थे।