बदले बदले से मेरे सरकर

महानगर की लाइफ लाइन कहे जाने वाले कचहरी पुल पर एकाएक सुबह एक हिस्सा बैठ गया। पुल से गुजर रहे लोगों ने तत्काल इसकी सूचना मौके पर मौजूद यातायात पुलिस को दी आनन-फानन में बैरिकेडिग लगाकर यातायात के लिए बंद कर दिया गया। रूट डायवर्ट करने के साथ ही अन्य मार्गो पर जाम के चलते लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। बता दें कि मरमत के बाद पुल को अप्रैल के पहले पखवाड़े में यातायात के लिए खोला गया था। रेलवे फ्रेट कारिडोर की लाइन के लिए पुल के नीचे सीमेंटेड बाक्स बनाया गया था, इसके लिए पुल के एक हिस्से को काटा गया था। एक सप्ताह पहले भी पुल के एक हिस्से में दरार आ गई थी जिसे रेलवे का काम कर रहे लार्सन एंड टूब्रो के इंजीनियरों द्वारा मरमत कर ठीक किया गया था। बुधवार सुबह पुल से कचहरी की ओर उतरने वाले ढलान पर पुल का एक हिस्सा दरार आने के कारण बैठ गया। लार्सन एंड टूब्रो के अधिकारियों द्वारा पुल की साइड की ओर तत्काल मिट्टी के कट्टे भरने का काम शुरू किया गया यातायात पुलिस द्वारा सुरक्षा के मद्देनजर पुल पर आवागमन बंद कराया गया। कंपनी के हैड प्रोजेक्ट एडमिनेस्ट्रेशन एंड इंडस्ट्रीयल रिलेशन रमन चौधरी ने बताया की पुल की साइड से मिट्टी धंसने के कारण यह समस्या आई है। इंजीनियर्स द्वारा पुल की ऊपरी मरम्मत का काम कर लिया गया है। साइड की मिट्टी के ढलान का ट्रीटमेंट कराया जायेगा ताकि दोबारा यह समस्या न आए।अभी बारिश के चलते काम में थोड़ी परेशानी आ रही है। उधर नगर आयुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया निर्माण विभाग के अधिकारियों को भी मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लेने के निर्देश दिए गए हैं मरमत की पड़ताल के बाद ही पुल को यातायात के लिए खुलवाया जायेगा।