bank of india recruitment peon 2017

हालांकि, कोठी पर ठीक से बात नहीं की। इसके चलते ही वह कॉलेज में चल रहे राज्यमंत्री के कार्यक्रम पहुंच गए थे ताकि कार्यक्रम खत्म होने के बाद अपनी बात अच्छे रख पाएं। इस मौके राज्यमंत्री ने उनसे ज्ञापन तो ले लिया लेकिन जब उनकी बात नहीं सुनी तो रोषित सक्षम युवा उनकी गाड़ी के आगे आ खड़े हुए। इसके बाद उनके साथ बुरा बर्ताव हुआ। हालांकि, वह अपनी मांगों को लेकर आगे भी आंदोलनरत रहेंगे।