अंड सब्ज बनने क वध

गठित टीम में एडीएम की अध्यक्षता वाली ट्रांस गंगा सिटी के किसानों को ट्रांस गंगा में ही विकसित भूमि का आवंटन तय करेगी। वहीं पुनर्वास राशि आवंटित किये जाने के लिए एसडीएम की अध्यक्षता वाली टीम निर्णय लेगी। ट्रांसगंगा के विकास के लिए जमीन देकर पुनर्वास धनराशि पाने के पात्र बने किसानों को भी उनकी बकाया राशि दी जानी है। यूपीसीडा चाहते हुए भी यह भुगतान किसानों और काश्तकारों को नहीं कर पा रहा है। अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी, यूपीसीडा, नेहा जैन ने गुरुवार को डीएम रवींद्र कुमार से मुलाकात कर पूरी जानकारी दी थी। बताया था कि ट्रांस गंगा सिटी के कुछ काश्तकारों के अवशेष भुगतान हमारे पास हैं। जिनका भुगतान शीघ्र कराने के लिए समिति गठित करने की मांग की। मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने प्रशासन से कैंप लगवाकर इस काम को आगे बढ़ाने में सहयोग मांगा है।