आईस क्रम बनने क तरक

पंचायत चुनाव से ठीक पहले दर्ज हुए उक्त मामले के बाद पंचायत प्रधान जमना देवी व सचिव नरेंद्र कुमार की मुश्किलें बढ़ गई हैं। पंचायत निवासी जगदीश शर्मा ने पंचायत में हेराफेरी के आरोप लगाए थे। उसने एक मृतक के नाम की मनरेगा में हाजिरी लगाकर फर्जी हस्ताक्षर करने सहित सोलर लाइट्स में हेराफेरी होने के मामले में प्रधान व सचिव के खिलाफ उपायुक्त मंडी व विजिलेंस को शिकायत की थी। मामले में कार्रवाई न होने पर शिकायतकर्ता ने इस संबंध में सारे दस्तावेज जुटा न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। इसके बाद न्यायालय ने विजिलेंस और पुलिस को मामला दर्ज करने का आदेश दिया था। अब पंचायत से रिकॉर्ड आने पर उसकी जांच विजिलेंस व पुलिस की टीम करेगी तथा उसके बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी।