14 मर्च सेक्स

संवाद सहयोगी, महेंद्रगढ़: केंद्र सरकार द्वारा पारित किए गए कृषि विधेयक के विरोध में कांग्रेस ने प्रदेशाध्यक्ष कुमारी शैलजा के नेतृत्व में शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन किया। महेंद्रगढ़ के विधायक राव दानसिंह एवं प्रदेशाध्यक्ष राव तुलाराम चौक से ट्रैक्टर पर सवार होकर के आंबेडकर चौक पहुंचे। बाबा साहेब आंबेडकर, महात्मा गांधी, लाल बहादुर शास्त्री की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण करने के बाद कुमारी शैलजा ने आरोप लगाया कि भाजपा शासनकाल में बाबा साहेब द्वारा दिए गए समान अधिकार खतरे में है। आज किसान, मजदूर में त्राहि-त्राहि मची है। सरकार के काले कानून के कारण भावी पीढ़ी का भविष्य अंधकारमय है। कांट्रेक्ट फार्मिंग से किसान बंधुवा मजदूर बनकर रह जाएगा। निजी कंपनियों का पहला कार्य मुनाफा कमाना होता है। उन्हें किसानों के हित से कोई सरोकार नहीं रहता। किसानों के कल्याण की जिम्मेवारी कंपनी की बजाय सरकार की होती है। कांग्रेस सरकार ने एमएसपी लागू करके इस बात की गांरटी ली थी कि इस न्यूनतम मूल्य पर किसान की जिस सरकार खरीदेगी। नये कानून में इस तरह का कोई प्रावधान नहीं है। उन्होंने स्वामी नाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने की मांग करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने अहीरवाल के क्षेत्र रेवाड़ी रैली में हर व्यक्ति के खाते में पन्द्रह से बीस लाख रुपये आने की बात कही थी। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार झूठ की बुनियाद पर टिकी हुई है। उन्होंने कहा कि सोनिया एवं राहुल गांधी ने किसानों की आवाज उठाते हुए कांग्रेस शासित राज्यों से कहा कि इस काले कानून को मान्यता न दें। उनकी सरकार आने पर इस काले कानून को समाप्त कर दिया जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार उनकी आवाज को दबाने की कोशिश कर रही है। दलितों एवं बेटियों का उत्पीड़न हो रहा है। मन की बात करने वाले प्रधानमंत्री बेटियों के बारे में मन की बात नहीं करते। हिन्दू धर्म के ठेकेदार रात को ही दाहसंस्कार कर देते हैं और परंपराओं को भूल जाते हैं। विधायक राव दानसिंह ने कहा कि हमेशा कांग्रेस के नाम पर बरगलाने वाली भाजपा को बताना चाहते हैं कि परमाणु परिक्षण इंदिरा गांधी ने किया था। कंप्यूटर क्रांति राजीव गांधी की देन है। इस सरकार में हर रोज निर्भया जैसे कांड हो रहे हैं। सरकार बनाने में रीढ़ का काम करने वाले, गरीब मजदूर का पेट भरने वाले किसानों के हितों के साथ कुठाराघात किया जा रहा है। उन्होंने कहा है कि जब-जब किसानों को डंडे लगे हैं तब-तब वे सरकार के कफन में कील साबित हुए हैं। इस अवसर पर पूर्व विधायक राव बहादुर सिंह, अर्जुन राव, सुनीता वर्मा ने भी अपने संबोधन में कृषि विधेयक का पूरजोर विरोध किया। सड़क से सदन तक लड़ाई लड़ने का ऐलान किया। विरोध प्रदर्शन में सरोज चौधरी, शैलेंद्र एडवोकेट, राव हरीसिंह, रोशन लाल माजरा सहित सैकड़ों की संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।