1 हफ्ते में सेक्स कतन बर करन चहए

निंबाराम ने उनसे आग्रह किया था कि वे इस केंद्र का दौरा करें और वहां की जरूरत के अनुसार उचित लगे तो सहयोग देने पर विचार करें। कंपनी के प्रतिनिधियों ने केंद्र के दौरे की तारीख तय नहीं की, इसलिए फंड से किसी राशि या अन्य किसी रूप में सहायता लेने का सवाल ही नहीं उठता। यह एक सामान्य शिष्टाचार की मुलाकात थी, इसे संघ में उनकी भूमिका से जोड़ना गलत है। उन्होंने कहा कि अलग-अलग समय और संदर्भ में की गई बातचीत की वीडियो रिकॉर्डिंग कर उन्हें जोड़कर राजनीतिक कारणों से उसके अन्य अर्थ लगाए जा रहे हैं। यह तथ्यों के विपरित और सिर्फ सनसनी फैलाने के लिए जारी किए हैं।