ब्रह्मण ववह यग्य युवक युवत 2019

मंगलवार की सुबह से ही भक्तों का रेला मंदिरों में उमड़ पड़ा। पूजा-अर्चना शुरू हो गई। सड़कों पर श्रद्धालु हाथों में पूजा का थाल लिए देवी मंदिरों की ओर जाते दिखे। मुरसान गेट स्थित बौहरे वाली देवी मंदिर पर सुबह से ही श्रद्धालुओं की कतार लग गई। किला गेट स्थित पथवारी मंदिर पर भी भक्तों का तांता दिखा। मंदिरों में नारियल चढ़ाते हुए दूध व जल से अभिषेक किया गया। प्रथम दिन मां शैलपुत्री की पूजा-अर्चना की गई। घरों व मंदिरों में देवी की महिमा का बखान करने वाले भक्ति संगीत बजते रहे। श्रद्धालुओं ने शाम को आरती व पूजाकर व्रत खोले। शहर में नवग्रह मंदिर, चामुंडा मंदिर, कंकाली, भद्रकाली, तारागढ़ वाली माता के मंदिरों को भव्य रूप से सजाया गया है।