bihar animal science university recruitment

शनिवार रात से श्रद्धालुओं की आवाजाही मंदिर परिसर में लगातार बनी हुई थी। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मंदिर के कपाट आधा घंटा बंद करके रात एक बजे ही खोल दिए गए। श्रद्धालुओं की दोहरी लाइनें सुबह ही लगनी शुरू हो गई जो सुबह नौ बजे तक मुख्य बाजार को पार कर मोगा धर्मशाला के आगे तक चली गई। लगभग पौना मील लंबी लाइन लग गई जिस कारण श्रद्धालुओं को मां के दर्शन करने के लिए तीन से चार घंटे तक इंतजार करना पड़ा।