best recruitment agencies in delhi

मंगलवार को पहुंचे श्रद्धालुओं अविनाश, संजीव, राकेश और पवन ने बताया कि चिंतपूर्णी में कुछ समय से भिक्षावृत्ति बहुत ज्यादा बढ़ गई है। इन लोगों ने मंदिर की मुख्य सीढि़यों पर डेरा डाला होता है। ऐसा प्रतीत होता है कि इन्हें मंदिर परिसर में तैनात सुरक्षा बलों का जरा भी डर नहीं है। तभी तो इनकी गतिविधियों में कोई फर्क नजर नहीं आता है। अधिकांश सफाई करने वाले भीख मांग रहे हैं, जबकि इन्हें न्यास की तरफ से मानदेय की व्यवस्था तक भी है। सफाई ठेकेदार द्वारा रखे गए मुलाजिम भी भीख मांगने में कोई शर्म महसूस नहीं करते हैं।