खय क मठई बनने क वध

मीनू चिकारा अनारक्षित सीट पर चुनाव लड़कर ब्लॉक प्रमुख बनी थीं। 58 साल बाद यह सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हुई है। इसमें जो भी महिला प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमाएगी वह दसवीं प्रमुख बनेगी और 58 साल के रिकार्ड में तीसरी महिला प्रमुख होगी। दसवीं बार के लिए प्रत्येक दल ने सुलझे व कर्मठ प्रत्याशी की खोजबीन का काम शुरू कर दिया है। भाजपा, बसपा व सपा सभी दल इस पद पर कब्जा करने के लिए एड़ी चोटी के जोर लगाएंगे। राजनीतिक लिहाज से यह सीट काफी अहम मानी जाती है।