घड़ आदम सेक्स वडय

अभिभावकों का कहना था कि आर्मी स्कूल प्रबंधन विद्यार्थियों को ले जाने के लिए लगाई गई बसों को बंद न करे, फिर चाहे स्कूल प्रबंधन इसके अलग से पैसे वसूल करें। मामले को बिगड़ता देख स्थानीय तहसीलदार विजय शर्मा ने हस्तक्षेप किया तथा आक्रोशित अभिभावकों को शांत करते हुए आश्वासन दिया कि वह सेना के आला अधिकारियों से बातचीत कर इस मामले को सुलझाने का पूरा प्रयास करेंगे। तहसीलदार के आश्वासन के बाद अभिभावकों ने अपना प्रदर्शन समाप्त कर दिया।