disha पत न ल ग स

प्राथमिकी दर्ज होने के चार साल बाद 11 फरवरी, 2019 को हाजीपुर न्यायालय द्वारा मामले में संज्ञान लिया गया था और नोटिस जारी कर लालू यादव को कोर्ट में हाजिर होने का आदेश दिया था. लेकिन उस समय लालू चारा घोटाले मामले में रांची के जेल में बंद थे. इस कारण पेशी नहीं हो पाई. तब भी मामले में न्यायिक प्रक्रिया जारी रही. इसी क्रम में 18 अप्रैल, 2022 को लालू को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हाजीपुर कोर्ट में हाजिर होना पड़ा, जिसके बाद हाजीपुर कोर्ट ने लालू यादव को शनिवार को 10 हजार के मुचलके पर जमानत दे दी.