मप पूर्व क्षेत्र वद्युत वतरण

सिरौलीगौसपुर के टेपरा में कटान रोकने लिए जो काम हो रहा था वह बंद हो चुका है। तेलवारी गांव की जमीन कटने से रोकने के लिए कोई प्रयास नहीं किया गया। रामनगर के कोरिनपुरवा में भी कटान से बचाव का कार्य ठप है। गुरुवार को पानी बढ़ने के साथ कचनापुर गांव में कटान शुरू हो गई। कचनापुर वही गांव है जिसका आधा हिस्सा पिछले वर्ष बाढ़ में कट गया था। 76 परिवार बेघर हो गए थे। बेघर परिवारों को दूसरे गांव में आवास बनाने के लिए जमीन का पट्टा दिया गया जिस पर झोपड़ी बनाकर रह रहे हैं। कचनापुर का बाकी बचा हिस्सा इस बार कटा तो करीब 100 परिवार बेघर होंगे।